चुद गई सपनो की रानी


Antarvasna, hindi sex stories, kamukta अमित और मेरी मुलाकात ऑफिस में ही हुई थी अमित जब भी किसी से मिलता तो वह उसकी बहुत बढ़ा चढ़ाकर तारीफ किया करता है शुरुआत में तो मुझे लगा कि शायद वह वाकई में तारीफ कर रहा होगा लेकिन ऐसा था नहीं अमित के दिल में तो कुछ और ही चलता था। जब मेरी मुलाकात अमित से हुई तो अमित ने मेरी तारीफ भी लोगों के सामने की और वह बातों को बहुत ही बड़ा चढ़ा कर पेश किया करता। एक दिन मुझे अमित के कोई परिचित मिले तो अमित मुझे कहने लगा अरे भाई साहब तो दिल के बहुत ही बड़े इंसान हैं अभी कुछ समय पहले ही इनकी लड़के की शादी हुई थी इन्होंने शादी में बहुत ही खर्चा किया और लोगों को जमकर शराब पिलाई।

मेरे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर अमित उनकी तारीफ क्यों कर रहा है लेकिन मुझे नहीं मालूम था कि अमित के दिल में तो कुछ और ही चल रहा है। अमित तो सिर्फ उन्हें दिखाने के लिए उनकी तारीफ कर रहा था कि वह उन्हें अपनी बातों से प्रभावित कर सके और आखिरकार वह भाई साहब अमित की बातों के जाल में फंस गए और कहने लगे कभी आइए ना घर पर हम लोग दावत करते हैं। अमित तो जैसे यही चाहता था और अमित मुझे भी अपने साथ उनके घर पर ले गया वहां पर हम लोगों ने जमकर शराब पी और मैं देर रात से घर लौटा मुझे काफी नशा हो चुका था मेरे पैर डगमगा रहे थे लेकिन जैसे तैसे मैं घर पहुंच गया। मैं जब घर पहुंचा तो मुझे बहुत गहरी नींद आई और मैं सुबह जब उठा तो मेरी मां मुझे चिल्लाते हुए कहने लगी अच्छा तो अब तुम शराब भी पीने लगे हो। शराब तो मैं काफी समय से पीता था लेकिन मेरी मां को यह बात पता नहीं थी लेकिन उस दिन मेरी मां को यह बात मालूम चल गई और वह कहने लगी कि रोहित बेटा यह बिल्कुल भी अच्छा नहीं है तुम इस प्रकार से शराब पीकर घर आओगे तो आस पड़ोस के लोग क्या कहेंगे। मुझे भी उस दिन बहुत बुरा लगा और उस दिन मुझे एहसास हुआ कि मैंने बहुत बड़ी गलती कर दी जो अमित के साथ चला गया लेकिन मुझे क्या मालूम था कि अमित मेरे जीवन में गोंद की तरह चिपकने वाला है और वह मेरे साथ ही रहने वाला है वह मुझे अब छोड़ने वाला नहीं था।

अमित हर रोज किसी न किसी को ऐसे ही अपनी बातों से प्रभावित करता रहता ऑफिस में सब लोग उससे बचने की कोशिश किया करते। उससे सबसे पहले मेरी मुलाकात हुई थी और मेरा ही वह दोस्त था इसलिए मुझे भी अच्छा नहीं लगता था मैंने अमित से दूर जाने की कोशिश की और मैंने सोचा की मुझे अमित से दूर चले जाना चाहिए। अमित के इरादे बिल्कुल भी ठीक नहीं थे वह जिस प्रकार से लोगों को अपनी बातों में फंसाया करता था वह तो बिल्कुल भी ठीक नहीं था। मैंने अमित से दूरी बनानी शुरू कर ली लेकिन अमित कहां मेरा पीछा छोड़ने वाला था इसलिए मुझे ही ऑफिस को छोड़ना पड़ा और मैंने ऑफिस छोड़कर दूसरे ऑफिस में ज्वाइन कर लिया। अमित मुझे कई बार फोन किया करता लेकिन मैं उसका फोन ही नहीं उठाता था मैं उसे कहता कि मैं अपने काम में बिजी हूं। मैं अमित से बचने की कोशिश करने लगा था क्योंकि मुझे भी अमित का व्यवहार बिल्कुल ठीक नहीं लगता था और जिस प्रकार से अमित अपनी बातों में लोगों को फंसाया करता था वह बिल्कुल भी ठीक नहीं था। वह लोगों की झूठी तारीफ किया करता था और पीठ पीछे उन सब को बहुत ही बुरा भला कहता था मुझे यह बात बिल्कुल भी पसंद नहीं थी फिर मैंने अमित से दूरी बना ली थी। मैं जिस नये ऑफिस में गया वहां पर मुझे सपना मिली सपना और मेरे बीच में बहुत अच्छी दोस्ती हो गई हम दोनों दोपहर का लंच भी हर रोज साथ में किया करते थे। मुझे सपना के बारे में ज्यादा कुछ जानकारी नहीं थी मुझे सिर्फ इतना पता था कि सपना के पिताजी कॉलेज में प्रोफेसर है। सपना और मेरी मुलाकात जब भी होती तो मैं उसे देखकर मुस्कुरा दिया करता था मेरे चेहरे पर सपना को लेकर हमेशा मुस्कुराहट आ जाती थी। सपना ही ऐसी थी कि जब भी मैं उसे देखता तो मेरा मूड पूरी तरीके से ठीक हो जाया करता था। एक दिन मैंने सपना को कहा सुना है कि ऑफिस में इस बार जो सबसे ज्यादा काम करेगा उसे ऑफिस की तरफ से विदेश का टूर मिलने वाला है।

सपना कहने लगी हां बॉस कह तो यही रहे थे मैंने सपना से कहा लेकिन तुम्हें क्या इसकी पूरी जानकारी है। सपना कहने लगी नहीं मुझे अभी तक इस बारे में पूरी जानकारी तो नहीं है लेकिन बॉस ने कहा तो था कि जो सबसे अच्छा काम करेगा उसे इस बार विदेश का टूर मिलेगा। सब लोग इसी जद्दोजहद में लगे हुए थे क्योंकि सब लोग चाहते थे कि वह विदेश घूमने के लिए जाएं, मेरा भी सपना था कि मैं अपने परिवार को कहीं घुमाने के लिए लेकर जाऊं। लंच टाइम में मैं और सपना साथ में बैठकर लंच कर रहे थे तभी सपना ने कहा आज मेरे पापा मुझे ऑफिस लेने के लिए आएंगे तो मैं तुम्हें अपने पापा से मिलाऊंगी मैंने सपना से कहा ठीक है। जब शाम के वक्त सपना के पिता जी ऑफिस में आए तो मैं उनसे मिला वह मुझे कहने लगे बेटा मैंने तुम्हें पहले कहीं देखा है। उन्हें भी शायद कुछ ध्यान नहीं आया और मुझे तो कभी ध्यान ही नहीं आया कि मैंने उन्हें कहां देखा था लेकिन जब शाम को सपना ने मुझे फोन किया और कहा कि क्या तुम अमित भैया को जानते हो। मैंने सपना से कहा हां मैं अमित को जानता हूं अमित मेरे साथ पहले ऑफिस में काम किया करता था। सपना मुझे कहने लगी पापा ने आपको अमित भैया के साथ ही देखा है अमित भैया की वजह से पापा को बहुत बड़ा नुकसान हुआ था मैंने सपना से पूछा लेकिन तुम अमित को कैसे जानती हो।

सपना कहने लगी अमित भैया मेरे ताऊजी के लड़के हैं और उनकी बातों में आकर पापा ने एक जगह इन्वेस्टमेंट कर दिया था जिसके बाद पापा को बहुत बड़ा नुकसान झेलना पड़ा। मैंने सपना से कहा अच्छा तो क्या अभी तक तुम्हारे पापा के नुकसान की भरपाई नहीं हो पाई है। सपना कहने लगी नहीं अभी तक पापा के नुकसान की भरपाई नहीं हो पाई है वह हर रोज इसी चिंता में डूबे रहते हैं क्योंकि उसकी वजह से उन्होंने हमारे घर को भी गिरवी रखवा दिया था। मैंने सपना से कहा लेकिन तुमने इतनी बड़ी रकम कैसे बिना सोचे समझे कहीं इन्वेस्ट कर दी। सपना कहने लगी पापा को उस वक्त लालच आ गया था और पापा ने अमित भैया की बातों में आकर वह पैसे इन्वेस्ट कर दिए लेकिन उसके बाद उन पैसों का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। मैंने सपना से कहा मुझे अमित बिल्कुल भी ठीक नहीं लगा और उसकी वजह से मैंने अपने पिछले ऑफिस को भी छोड़ दिया था। सपना कहने लगी अच्छा तो तुमने भैया की वजह से ही अपने पुराने ऑफिस को छोड़ा था मैंने सपना से कहा हां सपना उसके बाद मैंने फोन रख दिया। मुझे तो इस बात की हैरानी थी सपना अमित की बहन निकली। सपना ने जब मझसे अमित के बारे में पूछा तो मैंने उसे सारी बात बता दी थी और अमित की सच्चाई सपना के सामने भी खुल चुकी थी। अब अमित को वह बिल्कुल भी पंसद नहीं करती थी सपना ने अपने पिताजी को भी सब कुछ बता दिया था और उसी के चलते अमित ने मुझे फोन किया और कहने लगा तुमने सपना को मेरे बारे में क्या क्या कह दिया। मैंने अमित से कहा जो सच्चाई थी मैंने वही तो कहीं अमित मुझ पर भड़क गया और कहने लगा आज के बाद तुम कभी मुझसे बात भी मत करना।

मैंने अमित से कहा तुम्हारी गलती का ही नतीजा है इसमें तुम मुझे दोषी नही ठेहरा सकते हो लेकिन अमित कहां मानने वाला था। सपना कि नजरों में मेरे इज्जत और भी बढ़ चुकी थी सपना और मैं एक दूसरे को दिल ही दिल प्यार करने लगे थे। हम दोनों ने एक बार घूमने का प्लान बनाया और हम दोनों साथ में घूमने के लिए चले गए मुझे इस बात की खुशी थी कि सपना मुझ पर पूरी तरीके से भरोसा करती है और अब मेरे साथ आने तक को तैयार हो गई थी। उस रात मे सपना के रूम में बैठकर उससे बात की तो मैं उसको देखे जा रहा था सपना मुझे कहने लगी मुझे तुम बहुत अच्छे लगते हो। यह कहते कहते ही वह मेरी बाहों में आ गई मैं भी सपना को किस करने लगा मैं जब सपना को किस कर रहा था तो मुझे बहुत अच्छा प्रतीत हो रहा था और जिस प्रकार से सपना मेरी गोद में बैठी उससे मेरा लंड पूरी तरीके से खड़ा होने लगा था। मैं समझ गया कि सपना को क्या चाहिए मैंने सपनों को लेटाते हुए कहा मै अभी आता हूं। सपना कहने लगी कहां जा रहे हो लेकिन मैं तो सपना को चोदने वापस आ रहा था मेरा कंडोम मेरे रूम में ही रह गया था इसलिए मैं सपना को चोदने के लिए आ रहा था।

मैं जब वापस आया तो मैंने अपनी जेब में कंडोम रख लिया था। मै सपना के होठों को काफी देर तक किस करता रहा जैसे ही मैंने सपना के स्तनों को चूसना शुरू किया तो वह भी अब रह ना सकी और मचलने लगी। सपना कहने लगी मुझसे रहा नहीं जा रहा है मैंने भी सपना को कहा तुम मेरे लंड को अपने मुंह में ले लो। सपना भी मना ना कर सकी और उसने मेरे मोटे से लिंग को अपने मुंह के अंदर समा लिया और उसे चूसने लगी। जिस प्रकार से वह मेरे लंड को चूस रही थी उससे मेरे अंदर और भी जवानी फूटने लगी और मैंने अपने लंड पर कंडोम चढ़ाते हुए सपना की योनि पर सटाया तो सपना घबराने लगी थी। उसने अपने दोनों पैरों को आपस में मिला लिया मैंने उसके दोनों पैरों को चौड़ा करते हुए एक ही झटके में अपने मोटे से लंड को सपना की योनि में प्रवेश करवाया तो वह चिल्लाने लगी। वह मुझे कहने लगी मुझे बड़ा दर्द हो रहा है मैं बड़ी तेज गति से धक्के मार रहा था। मेरे धक्के इतने तेज होने लगे थे वह बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी लेकिन फिर भी मैं उसे तेजी से धक्का मारता रहा। उसका पूरा शरीर हिलता जा रहा था उसकी योनि से खून का बहाव तेज होने लगा था लेकिन कुछ ही देर बाद मेरा वीर्य बाहर गिर पड़ा। मैंने सपना से कहा लो बस हो गया। वह कहने लगी यह मेरा पहला ही मका है इसलिए थोड़ा घबरा रही थी मैंने उसे कहा कोई बात नहीं ऐसा होता है और हम दोनों एक साथ सो गए।

Online porn video at mobile phone


hindi sex read storymummy ki chudai hindi storyindian sexy chudai kahaniaurat ki gaandchudai sex kahanihindi porn storypati ki adla badlisex desi storyholi ke din maa ko chodachudai ki latest kahaniyanmami ki chudai story hindisali ki chut photomaa ko khet mai chodabehan ko chudaibete ne choda sex storyhindi sax kahanesali ko nanga karke chodahindi desi chudai storykhada landcousin ki chudai ki storydesy kahanikomal ki gand marimuslim aunty ki chutchachi chudai in hindibhabhi ko dosto ne chodahindi group sex kahanighar ki chudaisexy storeybhau ki chutmummy ki chudai photo ke sathbhai bahan ki choda chodiaunty ki chudai kahani hindimaa bete ki hindi sex kahaniindian kamasutra storiesshort sex story hindichudasi maahindi swapping storiesboyfriend girlfriend chudaimosi ki chut marichudail ki kahani in hindi fonthindi font desi storyindian porn storiesnayi dulhan ki chudaiteacher ki gaand marihindi sex historydesi sex stories hindi fontsbahan ne bhai se chudwayabest hindi sexy storyapni saali ko chodabhai bahan ki chudai photobhai bahan ki chutaeroplane me chudailund chut ki kahani hindi mesasur bahu ki chudai storybehan ki nangi chutbiwi aur saali ko chodamausi ki chut fadibhabhi ki chikni chuthindi desi khaniyapurvi ki chudaisali ki chudai in hindi fontbiwi ki gaandromantic chudai ki kahanihindi maa ki chutteacher ne choda kahanipregnant ladki ki chudaibhosda sexbeti ki chudai hindimoti chuchi wali auntysavita bhabhi ki sex storybua ki chudai dekhimahima ki chudaichudai ki story latestbhabhi ki chudai story in hindi fontchut story with photoanjane me chudai ki kahanidoodh wali aunty ko chodamast aunty ki chutsavita bhabhi chootgigolo hindibhabhi chootgay porn hindimaster chudaikamukta com story